जबर्दस्त हो जाएगी याददाश्त अपनाएं ब्रह्मी व बादाम का ये अचूक उपाय




कमजोर याददाश्त को बुढ़ापे की निशानी माना जाता है, लेकिन बार-बार भूलने की समस्या केवल बूढ़े लोगों के साथ ही नहीं बल्कि जवान लोगों के साथ भी होती है। दरअसल भूलने का मुख्य कारण एकाग्रता की कमी है। स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए दिमाग को सक्रिय रखना आवश्यक है। अगर आपके साथ भी यही समस्या है कमजोर स्मरण शक्ति आपके लिए परेशानी का कारण बनी हुई है, तो नीचे लिखे घरेलू उपायों को जरुर अपनाएं।
- अखरोट स्मरण शक्ति बढाने में सहायक है। 20 ग्राम अखरोट और साथ में 10 ग्राम किशमिश रोजाना लेना चाहिये।
- अलसी का तेल आपकी एकाग्रता बढाता है, आपकी स्मरण शक्ति तेज करता है तथा सोचने समझने की शक्ति को भी बढ़ाता है। नियमित रूप से अलसी के तेल के सेवन से आपको मष्तिष्क सम्बन्धी कोई विकार नहीं रहेगा।
- ब्रह्मी दिमागी शक्ति बढाने की मशहूर जड़ी-बूटी है। इसका एक चम्मच रस नित्य पीना हितकर है। इसके 7 पत्ते चबाकर खाने से भी वही लाभ मिलता है। ये दिमाग की शक्ति घटने पर रोक लगती है।
- बादाम 9 नग रात को पानी में गलाएं। सुबह छिलके उतारकर बारीक पीस कर पेस्ट बना लें। अब एक गिलास दूध गरम करें और उसमें बादाम का पेस्ट घोलें। इसमें 3 चम्मच शहद भी डालें। जाने पर उतारकर मामूली गरम हालत में पीएं। यह मिश्रण पीने के बाद दो घंटे तक कुछ न लें।
Read More...

भविष्य का सपना

भविष्य का सपना 

मन पखेरू उड़ने लगा है 
नए नए सपने संजोने लगा है 
दिल में एक नया एहसास उमंगें ले रहा है 
नई पीढ़ी का भविष्य भी अब सुनहरा हो रहा है 
एक जिम्मेदारी जो अब अपनी मंजिल पा रही है 
आँखों में नए-नए सपने और अरमान जगा रही है 
जल्द ही वो दिन आयेगा जब वो अपनी मंजिल पा जाएगी 
अपने नए संसार में सुखी ,खुश और  मस्त हो जाएगी 
उसके सुख में ही हम अपना सुख पा जायेंगे 
उसके उल्लास और उमंग में हम भी खो जायेंगे 
जब वो अपनी अगली पीढ़ी को लेकर खुशी-ख़ुशी आएगी  
उसकी मीठी मीठी और प्यारी किलकारी से घर गुन्जाएगी  
तो ऐसा लगेगा की जीवन सम्पूर्ण हो गया 
सारे जहाँ का सुख हमको मिल गया 
जिम्मेदारियां जब अपनी मंजिल पा जाएँगी 
अपनी सुखी और प्यारी दुनिया बसाएंगी 
फिर हम अपने कर्तव्यों से मुक्त हो जायेंगे 
एक दूसरे में पूरी तरह खो जायेंगे 
अपनी अधूरी इच्छाओं और शोकों को पूर्ण करेंगे 
और सिर्फ और सिर्फ एक दुसरे के लिए जियेंगे 
मन पखेरू उड़ने लगा है 
नए-नए सपने संजोने लगा है 
 
Read More...

कब्ज (कांस्टीपेशन) का इलाज.

अनियमित खान-पान के चलते लोगों में कब्ज एक आम बीमारी की तरह प्रचलित है। यह पाचन तन्त्र का प्रमुख विकार है। मनुष्यों मे मल निष्कासन की फ़्रिक्वेन्सी अलग अलग पाई जाती है। किसी को दिन में एक बार मल विसर्जन होता है तो किसी को दिन में २-३ बार होता है। कुछ लोग हफ़्ते में २ य ३ बार मल विसर्जन करते हैं। ज्यादा कठोर,गाढा और सूखा मल जिसको बाहर धकेलने के लिये जोर लगाना पडे यह कब्ज रोग का प्रमुख लक्छण है।ऐसा मल हफ़्ते में ३ से कम दफ़ा आता है और यह इस रोग का दूसरा लक्छण है। कब्ज रोगियों में पेट फ़ूलने की शिकायत भी साथ में देखने को मिलती है। यह रोग किसी व्यक्ति को किसी भी आयु में हो सकता है हो सकता है लेकिन महिलाओं और बुजुर्गों में कब्ज रोग की प्राधानता पाई जाती है।


कब्ज निवारक नुस्खे इस्तेमाल करने से कब्ज का निवारण होता है और कब्ज से होने वाले रोगों से भी बचाव हो जाता है--


१---कब्ज का मूल कारण शरीर मे तरल की कमी होना है। पानी की कमी से आंतों में मल सूख जाता है और मल निष्कासन में जोर लगाना पडता है। अत: कब्ज से परेशान रोगी को दिन मे २४ घंटे मे मौसम के मुताबिक ३ से ५ लिटर पानी पीने की आदत डालना चाहिये। इससे कब्ज रोग निवारण मे बहुत मदद मिलती है।


२...भोजन में रेशे की मात्रा ज्यादा रखने से कब्ज निवारण होता है।हरी पत्तेदार सब्जियों और फ़लों में प्रचुर रेशा पाया जाता है। मेरा सुझाव है कि अपने भोजन मे करीब ७०० ग्राम हरी शाक या फ़ल या दोनो चीजे शामिल करें।


३... सूखा भोजन ना लें। अपने भोजन में तेल और घी की मात्रा का उचित स्तर बनाये रखें। चिकनाई वाले पदार्थ से दस्त साफ़ आती है।


४..पका हुआ बिल्व फ़ल कब्ज के लिये श्रेष्ठ औषधि है। इसे पानी में उबालें। फ़िर मसलकर रस निकालकर नित्य ७ दिन तक पियें। कज मिटेगी।


५.. रात को सोते समय एक गिलास गरम दूध पियें। मल आंतों में चिपक रहा हो तो दूध में ३ -४ चम्मच केस्टर आईल (अरंडी तेल) मिलाकर पीना चाहिये।




६..इसबगोल की की भूसी कब्ज में परम हितकारी है। दूध या पानी के साथ २-३ चम्मच इसबगोल की भूसी रात को सोते वक्त लेना फ़ायदे मंद है। दस्त खुलासा होने लगता है।यह एक कुदरती रेशा है और आंतों की सक्रियता बढाता है।


७..नींबू कब्ज में गुण्कारी है। मामुली गरम जल में एक नींबू निचोडकर दिन में २-३बार पियें। जरूर लाभ होगा।


८..एक गिलास दूध में १-२ चाम्मच घी मिलाकर रात को सोते समय पीने से भी कब्ज रोग का समाधान होता है।


९...एक कप गरम जल मे १ चम्म्च शहद मिलाकर पीने से कब्ज मिटती है। यह मिश्रण दिन मे ३ बार पीना हितकर है।


१०.. जल्दी सुबह उठकर एक लिटर गरम पानी पीकर २-३ किलोमीटर घूमने जाएं। बहुत बढिया उपाय है।


११..दो सेवफ़ल प्रतिदिन खाने से कब्ज में लाभ होता है।


१२..अमरूद और पपीता ये दोनो फ़ल कब्ज रोगी के लिये अमॄत समान है। ये फ़ल दिन मे किसी भी समय खाये जा सकते हैं। इन फ़लों में पर्याप्त रेशा होता है और आंतों को शक्ति देते हैं। मल आसानी से विसर्जीत होता है।


१२..अंगूर मे कब्ज निवारण के गुण हैं । सूखे अंगूर याने किश्मिश पानी में ३ घन्टे गलाकर खाने से आंतों को ताकत मिलती है और दस्त आसानी से आती है। जब तक बाजार मे अंगूर मिलें नियमित रूप से उपयोग करते रहें।


13..एक और बढिया तरीका है। अलसी के बीज का मिक्सर में पावडर बनालें। एक गिलास पानी मे २० ग्राम के करीब यह पावडर डालें और ३-४ घन्टे तक गलने के बाद छानकर यह पानी पी जाएं। बेहद उपकारी ईलाज है।


१४.. पालक का रस या पालक कच्चा खाने से कब्ज नाश होता है। एक गिलास पालक का रस रोज पीना उत्तम है। पुरानी कब्ज भी इस सरल उपचार से मिट जाती है।


१५.. अंजीर कब्ज हरण फ़ल है। ३-४ अंजीर फ़ल रात भर पानी में गलावें। सुबह खाएं। आंतों को गतिमान कर कब्ज का निवारण होता है।


16.. मुनका में कब्ज नष्ट करने के तत्व हैं। ७ नग मुनक्का रोजाना रात को सोते वक्त लेने से कब्ज रोग का स्थाई समाधान हो जाता है।

‘जान है जहान है‘ ब्लॉग से शुक्रिया के साथ पेश है.
Read More...

ब्लॉगर्स मीट वीकली (31) Carrier in Homoeopathy


ब्लॉगर्स मीट वीकली (31)

सबसे पहले मेरे सारे ब्लॉगर साथियों को प्रेरणा अर्गल का प्रणाम और सलाम / आप सभी का इस ब्लोगर्स मीट में स्वागत है /आप आइये और अपने विचारों से हमें अवगत कराइये /आप सभी का आशीर्वाद और स्नेह इस मंच को मिलता रहे यही कामना है /आभार /

आज सबसे पहले मंच की पोस्ट्स

अनवर जमालजी की रचनाएँ

अयाज अहमदजी की रचना

मंच के बाहर की पोस्ट

एक किरण अब भी बाकी है........ (डॉ0 रूपचन्द्र शास्त्रीजी ‘मयंक')

पिछले कई वर्षों से मैं दो-मंजिले पर रहता हूँ। मेरे कमरे में तीन रोशनदान हैं। उनमें जंगली कबूतर रहने लगे थे।

कुमार राधारमण जी की रचना

शकर का हिसाब

इस तरह जो लोग "मीठे केशौकीन" नहीं होते,

वे भी अपने दिनभर के आहार में कई तरह से

शकर ले लेते हैं। सिर्फ कहने की बात रहती है कि

"हम ज़्यादा मीठा नहींखाते।"

कैलाश सी.शर्माजी की रचना
घर की अलगनी के दो छोर जोड़े रहे दो दीवारों की दूरी, दूर हो कर भी बने रहे

एक ही सूत्र के दो छोर

साधना वैदजी की रचना
फागुन का मास तो
हर बरस आता है ,
लाल, पीले,
हरे, नीले
आशा सक्सेनाजी की रचना

दोशी कौन

अर्श से ज़मीन तक
वजूद है तेरा
होता सुखद अहसास
सानिध्य पा तेरा
महेश्वरी कनेरीजी की रचना

खाली पन्ने

बहते अश्रु जल ने शायद सब अक्षर मिटा दिए हैं
तभी तो जीवन की किताब के कुछ पन्ने खाली रह गए हैं
रविकरजी की रचना

मनमे अतीत की याद लिए फिरते है

निज अंतर में उन्माद लिए फिरते हैं,
उन्मादों में अवसाद लिए फिरते हैं,
अंदर ही अन्दर झुलस रही है चाहें,
मनमे अतीत की याद लिए फिरते है।
संगीता स्वरुपजी की रचना

उन्मादी प्रेम

वन्दना जी की रचना
उफनते समुद्र की
लहरों सा
उन्मादी प्रेम
चाहता है
पूर्ण समर्पण
चन्द्र मौलेश्वर प्रसाद जी की रचना

मजाज़ की कविता

Mother calms the sad daughter  Stock Photo - 9626488
अतुल श्रीवास्तवजी की रचना

गर्व की बात है... हम उस देश में पैदा हुए, जिस देश की मिट्टी को माथे पर लगाया जाता है। गर्व की बात है..... हम उस देश में पैदा हुए, जिस देश के संत महात्‍माओं की सीखों से पूरी दुनिया रौशन है।
चौंकिए नहीं साहब! यह बलात्कार वैसा नहीं है जो आप समझ रहे हैं और डॉक्टर भी वो नहीं जिसे आप जान रहे हैं। यह शब्दों के साथ बलात्कार है और बलात्कारी हैं पी-एच.डी. उपाधिधारी डॉक्टर

Mahesh Barmate

आपके लिए कुछ लिंक भेज रहा हूँ..
इन्हें ब्लॉगर्स मीट में शामिल करियेगा...

१ - इंडियन आइडल ६ में शामिल होयें - जानकारी
२ - एप्पल आई फ़ोन के आई ओ एस ५ में हिंदी की-बोर्ड सक्रिय करें -

भारतीय नारी सुकन्या के विचार आज कितने प्रासंगिक हैं ? Sukanya

औरत का दूसरा विवाह होने के विषय में और पुत्र होने के विषय में सुकन्या के विचार क्या आज भी प्रासंगिक हैं ?

‘आर्य भोजन‘ ब्लॉग पर



  • कलौंजी-एक रामबांण दवा kalonji


    बथुआ तीनों दोषों को शांत करता है

    सेक्स पावर बढ़ानी है तो लहसुन, काले चने, सफेद मुसली खाओ

    ‘ब्लॉग की ख़बरें‘ पर

    पुरस्‍कार और सम्‍मान की परम्‍परा -Ajit Gupta



    ‘आपका सूत्रधार‘ एक नया ब्लॉग सामने आया है और उसने ‘ब्लॉग की ख़बरें‘ का लिंक अपनी एक ताज़ा पोस्ट पर दिया है जो कि ‘प्रगतिशील ब्लॉग लेखक संघ‘

    ब्लॉगर्स को प्रब्लेस शिखर सम्मान मुबारक हो ! Prize



    Khushdeep Sehgal said... दो दोस्तों ने फलों के कारोबार का फैसला किया...एक संतरे का टोकरा लेकर बैठ गया...एक केले का...

    निरामिष ब्लॉग Niraamish.blogspot.in



    वेद और शाकाहार के प्रचार में जुटा है ...इस पर एक अच्छी चर्चा चल रही है, जिसे देखना सभी ब्लॉगर्स के लिए एक सुखद अनुभव रहेगा।

    ज्योतिषियों और बाबाओं की तिलिस्मी तकनीक Gorakh Dhandha



    भविष्य बताने वाले और कष्ट दूर करने वाले ज्योतिषियों और बाबाओं की तिलिस्मी तकनीक रोज़ी रोटी की तो क्या यहां हलवा पूरी की भी कोई समस्या

    किस उम्र में क्या खाएं महिलाएं ? Age



    हर 10 साल में औरतों में मेटाबॉलिज्म रेट 2 से 8 पर्सेंट कम हो जाता है। इसका मतलब है कि 25 की उम्र में आपको जितनी कैलरी चाहिए थी, 35 की उम्र

    ‘कमेंट्स गार्डन‘ पर
    च्यवन ऋषि ने ताज़ा आंवले खाए और वे जवान हो गए


    प्यारी मां‘ ब्लॉग पर
    अपनी बेटियों के सफ़ेद बाल काले कीजिए नीम से

    ‘मुशायरा‘ ब्लॉग पर
    Image

    ज़िन्दगी ख़ुद क्या ‘फ़ानी’ यह तो क्या कहिये मगर।

    मौत कहते हैं जिसे वो ज़िन्दगी का होश है॥
    Read More...

    Read Qur'an in Hindi

    Read Qur'an in Hindi
    Translation

    लखनऊ के शिक्षा सम्मेलन में सलीम ख़ान को और डा. अनवर जमाल को 'Best Blogger' के ईनाम से नवाज़ा गया

    Recent Visitors

    गर्मियों की छुट्टियां

    अनवर भाई आपकी गर्मियों की छुट्टियों की दास्तान पढ़ कर हमें आपकी किस्मत से रश्क हो रहा है...ऐसे बचपन का सपना तो हर बच्चा देखता है लेकिन उसके सच होने का नसीब आप जैसे किसी किसी को ही होता है...बहुत दिलचस्प वाकये बयां किये हैं आपने...मजा आ गया. - नीरज गोस्वामी

    Check Page Rank of your blog

    This page rank checking tool is powered by Page Rank Checker service

    विशेष सूचना पोस्ट पब्लिश करने के विषय में

    कृप्या ध्यान दें कि
    1-'हिंदी ब्लॉगिंग गाइड‘
    के लोकार्पण का सिलसिला शुरू हो चुका है। इस विशेष आयोजन के मौक़े पर सभी से सहयोग की आशा की जाती है और अनुरोध किया जाता है कि जब तक यह विशेष लेखमाला पेश की जा रही है तब तक यह ध्यान रखा जाए कि ‘हिंदी ब्लॉगिंग गाइड‘ के लेख को पेश किए जाने के 8 घंटे बाद ही कोई अन्य लेख इस मंच पर प्रकाशित किया जाए।
    2- ब्लॉगर्स मीट अब ब्लॉग पर आयोजित हुआ करेगी और वह भी वीकली Bloggers'Meet Weekly
    यह प्रत्यके सोमवार के दिन आयोजित होगी। मंच के सभी सदस्य इस पारिवारिक समारोह को सफल बनाने का पूरा प्रयास करें। इस दिन भी इस गोष्ठी के 8 घंटे बाद ही कोई दूसरा लेख प्रकाशित किया जाए ताकि आयोजन सफल हो और मंच के सदस्यों को ज़्यादा से ज़्यादा पाठक मिल सकें। सभी सदस्य अपने लेख का लिंक रविवार तक ज़रूर भेज दें ताकि उन्हें साप्ताहिक चर्चा में शामिल किया जा सके। धन्यवाद !

    Hindu Rituals and Practices

    Technical Help

    • - कहीं भी अपनी भाषा में टंकण (Typing) करें - Google Input Toolsप्रयोगकर्ता को मात्र अंग्रेजी वर्णों में लिखना है जिसप्रकार से वह शब्द बोला जाता है और गूगल इन...
      2 years ago

    चित्रगुप्त की स्मृति दिलाने वाला टूल

    हिन्दी लिखने के लिए

    Transliteration by Microsoft

    Followers


    Prerna Argal, Host : Bloggers' Meet Weekly, प्रत्येक सोमवार
    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

    Popular Posts Weekly

    Popular Posts

    हिंदी ब्लॉगिंग गाइड Hindi Blogging Guide

    हिंदी ब्लॉगिंग गाइड Hindi Blogging Guide
    नए ब्लॉगर मैदान में आएंगे तो हिंदी ब्लॉगिंग को एक नई ऊर्जा मिलेगी।

    Blog Archive

    Powered by Blogger.
     
    Copyright (c) 2010 प्यारी माँ. All rights reserved.