बलोगर्स मीट वीकली (33) Happy Holi

Posted on
  • Monday, March 5, 2012
  • by
  • Prerna Argal
  • in
  • Labels:

  • बलोगर्स मीट वीकली (33)
    सबसे पहले मेरे सारे ब्लोगर साथियों को प्रेरणा अर्गल का प्रणाम और सलाम /आप सबके सहयोग से ब्लोगर्स मीट वीकली निरंतर अपने पथ पर अग्रसर है /प्रत्येक सोमवार को होने वाली इस मीट में आप सब शामिल होते हैं ,और हमारा उत्साह बढ़ाते हुए अच्छे -अच्छे सन्देश देते हैं /हम आप सबके बहुत आभारी हैं ,आप सबका स्नेह और आशीर्वाद इसी तरह इस मीट को मिलता रहे ,यही कामना है /आभार /

    आज सबसे पहले मंच की पोस्ट्स

    अनवर जमालजी की रचनाएँ

    अयाज अहमदजी की रचना

    देख तमाशा दुनिया का - 'एक लिंक्स चर्चा'1- आज की चर्चा में आप सबका हार्दिक स्वागत ह
    एक प्रिंसिपल चतुर्थ श्रेणी का कर्मचारी नियुक्त नहीं कर सकता, लेकिन उसने राजपत्रित अधिकारियों ( प्रवक्ता ) की नियुक्ति की
    यज्ञ में पशु बलि पर एक बहस निरामिष ब्लॉग परऋषभ कंद - ऋषभक का परिचय ।। वेद विशेष ।।

    इस पर यह कहा गया है:



    मनोज साहब ने ईनाम बांटने का काम शुरू किया। ईनाम उन्होंने कम को बांटा और ज़्यादातर को उन्होंने ‘चिरकुट‘ का खि़ताब दे दिया। कहते हैं कि

    प्रेरणा अर्गलजी की रचना होली आई रे


    मंच के बाहर की पोस्ट

    "दोहे-होली का त्यौहार-1250वीं पोस्ट" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्रीजी 'मयंक')


    अब पछुआ चलने लगी, सर्दी गयी सिधार।
    कुछ दिन में आ जाएगा, होली का त्यौहार।१।
    धीरेन्द्रजी की रंग बिरंगी रचना
    holi animated scraps, graphics
    रस बरसाते रंगों के संग, फिर से आई होली,
    फागुन का उपहार निराला लेकर भर लो झोली!
    रविकरजी की रचना
    कुंडली

    अच्छे अच्छे लाल से, सीखे सकल समाज ।
    सामूहिक दुष्कर्म से, मरे मनुजता लाज ।
    पल्लवी जी की रचना

    ख्वाइशें ..


    ..

    "कमबख़्त यह ख्वाइशों का काफिला भी बड़ा अजीब होता है
    गुज़रता भी वहीं से हैं जहां रास्ते नहीं होते"
    अमरेन्द्र शुक्ल "अमरजी "की रचना
    ये दिन रात के अनवरत पल
    उसमे जलता ये
    मेरा मन
    जो खोजता है, अपने लिए
    इन न रुकने वाले अनवरत पलों में
    कुछ रुके हुए पल

    मार्ग दर्शन........डॉ. वेद व्यथित जी


    एक स्कूल का वार्षिक उत्सव होना था | स्कूल मतलब प्राइवेट स्कूल क्यों कि सरकारी स्कूलोंमे तो ऐसी बातें होती ही नही है क्यों कि वहाँ तो रोज आधी छुट्टी में वार्षिक उत्सव हो जाता है /

    अतुल श्रीवास्तवजी की रचना

    लाल क्रांति के लिए दो अपने लाल!



    ‘’हर घर से एक युवक दो या फिर मौत के लिए तैयार हो जाओ..

    ....’’ ये फरमान जारी किया है नक्‍सलियों ने और इस फरमान
    राजेश कुमारीजी की रचना

    प्रीत रीत में भेद नहीं
    सब कुदरत के खेल
    वृद्ध तरु भी झूम उठे
    जब चढ़े प्रेम की बेल |
    साधना वैदजी की रचना

    यह तो कहो


    रोशनी का बहुत पीछे छूटा
    एक नन्हा सा कतरा
    कितनी दूर तक
    मेरी राह रोशन कर पायेगा
    यह तो कहो !
    संगीता स्वरुपजी की रचना

    ज़िंदगी की महाभारत

    वक़्त का द्रोणाचार्य
    पल पल
    सजाता है
    नित नए चक्रव्यूह
    और
    अभिमन्यु बना मन
    महेश बारमाटे "माहीजी" की रचना


    कभी - कभी कितना सुखद होता है
    और कभी क्यों ये होता है दुःखद ...?


    ‘अहसास की परतें‘ ब्लॉग पर

    अरब और हिंदुस्तान का ताल्लुक़ स्वयंभू मनु के ज़माने से ही है Makka

    Picture _
    काबा वह पहला घर है जो मालिक की इबादत के लिए बनाया गया है। इसे हज़रत आदम अलैहिस्सलाम ने सबसे पहले बनाया था। आदम अलैहिस्सलाम को स्वयंभू मनु कहा जाता है। जब उनके बाद जल प्रलय आई तो उसका असर इस घर पर भी पड़ा था। इसके बाद हज़रत इब्राहीम अलैहिस्सलाम ने आज से लगभग 4 हज़ार वर्ष पहले काबा की जगह पर कुछ दीवारें ऊंची की थीं।
    कन्या-देवी पूज, जुल्म उनपर ही ढाये- - बाहर की क्या बात, आज घर में ही डरती मैं ही नारी हूँ......!!! 'आहुति' प्यार मिले परिवार का, पुत्र-पिता पति साथ । देवी मुझको मत बना, झुका नहीं नित माथ । झु...

    प्रत्‍येक शहर में 1000 से अधिक पेड़ खाक हो जाते हैं Holi



    हर साल होलिका में औसतन प्रत्‍येक शहर में 1000 से अधिक पेड़ खाक हो जाते हैं। यह वही पेड़ हैं, जो लाख जतन और जागरूकता के बाद 15-20 साल में...
    दिमाग की एक्सरसाइज सूचनाओं को याद रखने में बड़ी मददगार होती हैं......... - आप जो भी याद करने की कोशिश कर रहे हैं , उसे ठीक तरीके से विजुअलाइज करें। सवाल में मौजूद पिक्चर , ग्राफ आदि को दिमाग में बिठाएं। अगर सवाल के अंदर ऐसी कोई पि...

    प्यारी माँ
    रोजाना सिर्फ ये दो काम कर लेंगे तो बीमार नहीं पड़ेगे - आजकल बदलते मौसम के साथ तबीयत बिगड़ जाना एक आम समस्या है। सर्दी, खांसी, पेट व बुखार जैसी समस्याएं कमजोर इम्युनिटी पॉवर के कारण बदलते मौसम के साथ शरीर पर त...
    ‘वेद क़ुरआन‘ ब्लॉग पर

    गायत्री मंत्र रहस्य भाग 2 The mystery of Gayatri Mantra 2

    इस लेख का पिछला भाग यहां पढ़ें-

    गायत्री मंत्र रहस्य भाग 1 The mystery of Gayatri Mantra 1

    आप यह देखें कि गायत्री मंत्र के जिस अर्थ का हमें दर्शन हुआ है, उसके द्वारा व्याकरण के विद्वानों की आपत्तियां न्यूनतम स्तर पर पहुंच जाती हैं।
    तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात्.
    अर्थात हम परमेश्वर के सूर्य के उस वरणीय प्रकाश का ध्यान करें जो हमारी बुद्धियों को प्रेरित करे।

    गायत्री मंत्र के व्याकरण पर आपत्ति उचित नहीं है

    16 comments:

    डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

    मंच के बाहर की मेरी पोस्ट वीकली मीट में शामिल करने के लिए शुक्रिया!

    रविकर said...

    हुत बहुत आभार

    बढ़िया काम कर रहा है यह ब्लॉग ।

    होली है होलो हुलस, हुल्लड़ हुन हुल्लास।
    कामयाब काया किलक, होय पूर्ण सब आस ।।

    Sadhana Vaid said...

    हमेशा की तरह बहुत आकर्षक मीट है आज भी ! मेरी रचना को इसमें सम्मिलित करने के लिये आपका बहुत बहुत आभार एवं धन्यवाद !

    Asha Saxena said...

    इस मंच पर आकार बहुत अच्छा लगता है |बहुत अच्छी लिंक्स पढने को मिलती हैं प्रेरणा जी |
    आशा

    महेन्द्र श्रीवास्तव said...

    बढिया लिंक्स

    Anita said...

    बहुत अच्छे लिंक्स ! होली की शुभकामनायें!

    शिखा कौशिक said...

    PRERNA JI-BAHUT ACHCHHE LINKS SANJOYE HAIN ...reply ..HOLI PARV KI HARDIK SHUBHKAMNAYEN . YE HAI MISSION LONDON OLYMPIC

    Atul Shrivastava said...

    आभार मेरी पोस्‍ट को शा‍मिल करने के लिए।

    शालिनी कौशिक said...

    bahut achchhe links se bharpoor post.hbfi ke sabhi sadasyon v anya bloggars ko holi ki hardik shubhkamnayen.

    vedvyathit said...

    kripya hardik aabhar swikar kren

    DR. ANWER JAMAL said...

    @ प्रेरणा जी, आपकी प्रस्तुति सराहनीय है।
    आभार !

    Mahesh Barmate said...

    बहुत सुंदर लिंक्स हैं...
    मेरी कविता को शामिल करने के लिए धन्यवाद :)

    मनोज कुमार said...

    चुन-चुन कर अच्छे-अच्छे लिंक्स लगाए हैं आपने।

    amrendra "amar" said...

    Waah, Chun Chun Ker link aapne yaha sajoye hai. padker bahut accha lga .........dhanyawaad

    dheerendra said...

    मेरी रचना वीकली मीट में शामिल करने के लिए आभार.....

    prerna argal said...

    आप सबका बहुत बहुत धन्यवाद की आप सब ब्लोगर्स मीट वीकली ( ३३) में शामिल हुए /और हमारे द्वारा चयन किये गए लिंक पसंद किये /आप सभी इसी तरह प्रत्येक सप्ताह सोमवार को होनेवाली इस मीट में शामिल हों और हमारा उत्साह बढायें /आभार /
    आप सभी को होली की ढेर सारी शुभकामनायें

    Read Qur'an in Hindi

    Read Qur'an in Hindi
    Translation

    Followers

    Wievers

    Gadget

    This content is not yet available over encrypted connections.

    गर्मियों की छुट्टियां

    अनवर भाई आपकी गर्मियों की छुट्टियों की दास्तान पढ़ कर हमें आपकी किस्मत से रश्क हो रहा है...ऐसे बचपन का सपना तो हर बच्चा देखता है लेकिन उसके सच होने का नसीब आप जैसे किसी किसी को ही होता है...बहुत दिलचस्प वाकये बयां किये हैं आपने...मजा आ गया. - नीरज गोस्वामी

    Check Page Rank of your blog

    This page rank checking tool is powered by Page Rank Checker service

    Hindu Rituals and Practices

    Technical Help

    • - कहीं भी अपनी भाषा में टंकण (Typing) करें - Google Input Toolsप्रयोगकर्ता को मात्र अंग्रेजी वर्णों में लिखना है जिसप्रकार से वह शब्द बोला जाता है और गूगल इन...
      5 years ago

    हिन्दी लिखने के लिए

    Transliteration by Microsoft

    Host

    Host
    Prerna Argal, Host : Bloggers' Meet Weekly, प्रत्येक सोमवार
    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

    Popular Posts Weekly

    Popular Posts

    हिंदी ब्लॉगिंग गाइड Hindi Blogging Guide

    हिंदी ब्लॉगिंग गाइड Hindi Blogging Guide
    नए ब्लॉगर मैदान में आएंगे तो हिंदी ब्लॉगिंग को एक नई ऊर्जा मिलेगी।
    Powered by Blogger.
     
    Copyright (c) 2010 प्यारी माँ. All rights reserved.