‘ब्लॉगर्स मीट वीकली‘ (2) Love For All

Posted on
  • Monday, August 1, 2011
  • by
  • DR. ANWER JAMAL
  • in
  • Labels: , ,
  • श्री रूपचंद शास्त्री ‘मयंक‘
    सभी हिंदी भाषियों को प्रेरणा अर्गल का  प्रणाम और सलाम !
    ब्लॉगर्स मीट वीकली में आप सभी ब्लॉगर्स का हार्दिक स्वागत है। सबसे पहले हम अपने सभापति आदरणीय  रूपचंद शास्त्री मयंक जी का हार्दिक अभिनंदन करते हैं और उन्हें फूल पेश करते हैं, जिनके सान्निध्य में ही यह अद्भुत कल्पना साकार हो सकी है कि  ब्लॉगर्स मीट ब्लॉग पर आयोजित हुआ करे ताकि सारी दुनिया के कोने कोने से ब्लॉगर्स एक मंच पर जमा हो सकें और विश्व को सही दिशा देने के अपने विचार आपस में साझा कर सकें। ब्लॉगर्स मीट वीकली की पहली महफ़िल में आदरणीय शास्त्री जी का संबोधन इस कोण से एक अलग ही महत्व रखता है। इसमें बिना किसी भेदभाव के हरेक आय और हरेक आयु के ब्लॉगर्स सम्मानपूर्वक शामिल हो सकते हैं। ब्लॉग पर आयोजित होने वाली मीट में वे ब्लॉगर्स भी आ सकती हैं / आ सकते हैं जो कि किसी वजह से अजनबियों से रू ब रू नहीं होना चाहते।

    ब्लॉगर्स मीट वीकली : एक ऐतिहासिक आयोजन 

    प्रेरणा अर्गल 
    आदरणीय शास्त्री जी एक ऐसे साहित्यकार हैं जिनका साहित्य न केवल साहित्य के मानकों पर खरा उतरता है बल्कि उसमें समाज के लिए सकारात्मक संदेश भी होता है। उनकी रचनाओं को देखकर साहित्य सृजन के बारीक पहलुओं को भी सहज ही समझा जा सकता है। प्रस्तुत रचना इसी का एक उदाहरण है- 
    (1)
    बेटे-बेटी में करो, समता का व्यवहार।
    बेटी ही संसार की, होती सिरजनहार।।
    होती सिरजनहार, स्रजन को सदा सँवारा।
    जिसने ममता को उर में जीवन भर धारा।।
    कह 'मयंक' दामन में कँटक रही समेटे।
    बेटी माता बनकर जनती बेटी-बेटे।।

    (2) 
    हरे-भरे हों पेड़ सब, छाया दें घनघोर।
    उपवन में हँसते सुमन, सबको करें विभोर।।
    सबको करें विभोर, प्रदूषण हर लेते हैं।
    कंकड़-पत्थर खाकर, मीठे फल देते हैं।।
    कह 'मयंक' आचरण, विचार साफ-सुथरे हों।
    उपवन के सारे, पादप नित हरे-भरे हों।।


    हिंदी ब्लॉगर्स फ़ोरम इंटरनेशनल एक ऐसा मंच है जहां हरेक नया और पुराना ब्लॉगर अपने हरेक तरह के विचार को साझा कर सकता है। इसी सिलसिले में जो लेख इस सप्ताह फ़ोरम के मंच पर पेश किए गए हैं, वे आपके सामने रखे जा रहे हैं ताकि आप भी उन्हें देख लें और अपनी राय से हम सबको अवगत करा सकें।

    चूहे का आंदोलन

    वरिष्ठ पत्रकार श्री महेन्द्र श्रीवास्तव जी के लेख पर एक बहस 

    A Dialogue

    Hindi Blogging Guide (21) 

    हरेक समस्या का अंत आप कर सकते हैं तुरंत  

    Easy Solution

     गौरवशाली हिंदी मंच के नए पुराने साथियो से

    एक विनम्र विनती Hope

    प्लीज.. भगवा को बख्श दो बाबा

    खतरनाक होते हैं सोते हुए लोग 

     Police Opinion - अविनाश वाचस्‍पति

            Hindi Blogging Guide (19) 

             -महेंद्र श्रीवास्तवजी 

    और अंत में मेरी   

    यह कैसी निराली रीत

    -प्रस्तुति : प्रेरणा अर्गल


    प्रेरणा जी के शुक्रिया के साथ सभी बहनो और भाईयो को अनवर जमाल का सलाम , ओउम् शांति !मुशायरा::: नॉन-स्टॉप में  इब्ने सफ़ी की ग़ज़ल - Anwer Jamal



    गिर रहा है तो किसी और तरह ख़ुद को संभाल
    हाथ यूं  भी  तो  न  फैले  कि  बने  दस्ते  सवाल

     
     

    पेश है आपके लिए हमारा चयन हिंदी के कुछ मशहूर चिठ्ठों से

     

     दो लेखकों की रचनाएं परिकल्पना महोत्सव से

    webcam_2

    डॉ. रूपचंद्र शास्त्री “मयंक” की दो बाल कविताएँ

    “रेंग रही हैं बहुत गिजाई” छम-छम वर्षा आई। रेंग रही हैं बहुत गिजाई।। पेड़ों की जड़ के ऊपर भी, कच्ची...
    images (1)

    चुगलखोरी नहीं आसान, इतना समझ लीजै

    Written by Shefali Pandey| July 22, 2011 | 
    व्यंग्य, साथियों ...

    बाबा-सूट!!

    रतन सिंह शेख़ावत जी बता रहे हैं अपनी क्षत्रिय जाति का इतिहास
    और भारत भूषण जी भी नहीं भूले हैं कि क्या कहा था बाल गंगाधर तिलक ने ?
    ख़ुशी की बात है कि ‘हिंदी साहित्य संगम‘ जल्दी ही एक नई वेबसाइट पर दिखेगा।
     ...और अब पेश हैं हिंदी ब्लॉग जगत की कुछ जानी पहचानी शख्सियतों के क़लम का शाहकार . ये शाहकार ऐसे ब्लॉगर्स के दिमाग़ों की देन हैं जिन पर हिंदी ब्लॉग जगत को नाज़ है और लेखों की गुणवत्ता के लिए इन महानुभावों का नाम ही काफ़ी है।
    समय के अभाव में हम इन लेखों को ढंग से सजा न सके लेकिन इससे भी मन में एक जिज्ञासा और उत्सुकता का आविर्भाव ही होता है कि देखें इस लिंक रूपी इस सीप में ज्ञान का कौन सा मोती छिपा है ?

    http://jindagikerang.blogspot.com/ जिन्दगी के रंग.
    http://swasthya-sukh.blogspot.com/ स्वास्थ्य-सुख.
    http://najariya.blogspot.com/ नजरिया.

     प्रस्तुतकर्ता : सुशील बाकलीवाल
    ----------------------------------------------------------

    http://ret-ke-mahal-hindi.blogspot.com/2011/07/blog-post_25.html

    http://ret-ke-mahal-hindi.blogspot.com/2011/07/blog-post_4730.html

    http://ret-ke-mahal-hindi.blogspot.com/2011/07/blog-post_27.html

    http://ret-ke-mahal-hindi.blogspot.com/2011/07/blog-post_29.html

    http://ret-ke-mahal-hindi.blogspot.com/2011/07/blog-post_30.html 

    सादर, सधन्यवाद
    शिल्पा मेहता

    ----------------------------------------------------
    http://trishakant.blogspot.com/2011/07/blog-post.html

    श्रीकान्त मिश्र ’कान्त’
    ----------------------------------------------
     http://meghnet.blogspot.com/2011/07/blog-post_26.html

    भारत  भूषण

    --------------------------------------------------------------------

    दिनेश रविकर 
    ---------------------------------------------

     अनामिका घातक
    --------------------------------------------------------------------
    आदरणीय  जमाल  साहब ! आपका  मेल  मिला , मैं  पूरा  पहाड़  ही  भेज  देता  हूँ  संजीवनी  मिले  तो  ले  लें , इसकी  पहचान  आपको  बेहतर  होगी , आशा  है  ज़रुरत  की  चीजें  आप  को  मिल  जाएँगी  मेरी  ओर  से  थोडा  कष्ट  सह  लेंगे , मुझे  उम्मीद  है .
    आपका  मित्र ,
    अरूण कुमार झा
    www.drishtipatpatrika.blogspot.com,
    www.drishtipat.com,
    09471760495, ०९०३११९७५५३७

    अब एक शेरो-शायरी की नई साईट पर हम आपको लिए चलते हैं। यहां आपकों कई दीगर शायरों के साथ परवीन शाकिर की शायरी भी मिलेगी। वह कह रही हैं कि  

    अब कौन से मौसम से कोई आस लगाए
    बरसात में भी याद जब न उनको हम आए
    मिटटी की महक साँस की ख़ुशबू  में उतर कर
    भीगे हुए  सब्ज़े की तराई में बुलाए

    ये लेख हमें हमारी फ़रमाइश पर भेजे गए हैं जिससे इन लोगों का सहयोग सिद्ध होता है। हमें मिलकर सोचना है और मिलकर ही किसी बेहतर नतीजे पर पहुंचना है और यह मिलन तमाम अंतर और मतभेद के बावजूद होना है। संकीर्णताएं देर तक हिंदी ब्लॉगर्स को आपसी मिलन और प्रेम व्यवहार से रोक नहीं पाएंगी।
    ऐसी हमें आशा भी है और हमें ऐसा ही विश्वास भी है। 

    हम अपने मेहरबान दाता पालनहार का शुक्र अदा करते हैं कि इतनी कम मुद्दत में ही उसने इस मंच को असंख्य पाठकों के बीच इतना ज़्यादा लोकप्रिय बना दिया है कि आज इसकी पाठक संख्या का ग्राफ़ अपने शिखर पर है और पाठकों की संख्या लगातार बढ़ रही है। हिंदी ब्लॉगिंग गाइड भी इस मंच के विशेष आकर्षणों में से एक है।

     कल चाँद नज़र आएगा और
     रमज़ान का पवित्र महीना शुरू हो जाएगा, जो हमें अपने अंदर संयम और अनुशासन का पाठ पढ़ाता है और ये गुण सभी के लिए फ़ायदेमंद हैं।
    यह महीना दुआ का महीना भी है। दुआ हर समय की जा सकती है लेकिन इस महीने में दूसरे महीनों से बढ़कर दुआ करनी चाहिए। जहां हरेक कर्म की सीमा समाप्त हो जाती है, दुआ तब भी काम देती है।
    भक्ति में शक्ति है और भक्ति में शक्ति केवल प्रार्थना के माध्यम से ही प्रकट होती है। हम सब मन, बुद्धि और आत्मा से शक्तिशाली हों और सत्यपथ पर चलने में हम एक-दूसरे पर बढ़ जाने की कोशिश करें।

     
    इसी कामना के साथ,
    आपका भाई अनवर जमाल आप सभी का शुक्रगुजार है और  ब्लॉगर्स मीट वीकली की इस दूसरी महफ़िल को अब तमाम करता है।
    शुभ दिवस  
    अनवार अहमद और स्वामी श्री लक्ष्मी शंकराचार्य जी के साथ अनवर जमाल
    लखनऊ में
    और  सोचिये  कि  

     साऊथ अफ्रीका में बलात्कार भारत से ज़्यादा क्यों  होते हैं?

    लेकिन हकीक़त यह है कि

    हरेक समस्या का अंत आप कर सकते हैं तुरंत  

     

    39 comments:

    शालिनी कौशिक said...

    dr.sahab isi tarah miljul kar aage badhte rahiye safalta zaroor aapke kadam choomegi.doosri blogar meet shandar dhang se sampanna ki hai aapne badhai prerna ji aur dr.roop chandra shastri ji ko bhi.

    ana said...

    BLOGERS MEET KE BAHANE BLOGER KO APAS ME JODNE KA KARYE WASTAV ME SARAHNIYA
    HAI .....MERI DHER SARI SHUBHAKAMNAAYE

    Khushdeep Sehgal said...

    ब्लॉगर वीकली की कामयाबी के लिए शुभकामनाएं...

    मुकद्दस रमजान शुरू होने पर हर शख्स और अवाम के लिए अमन-ओ-मोहब्बत की दुआ....

    जय हिंद...

    HAKEEM YUNUS KHAN said...

    अच्छे मज़ामीन का इन्तेख़ाब है और कोशिश भी अच्छी है।
    रमज़ान मुबारक हो।
    रमज़ान के बारे में भी आपने अच्छी जानकारी दी है।
    शुक्रिया !

    डा.राजेंद्र तेला"निरंतर" Dr.Rajendra Tela,Nirantar" said...

    ब्लॉग की दुनिया
    के बहाने
    आप सब से निरंतर
    मुखातिब होता हूँ
    दिल की बातें सुनता ,
    सुनाता हूँ
    बिना मिले ही
    मिल लेता हूँ
    हाल-ऐ-दिल जान
    लेता हूँ
    ग़मों को भूलता हूँ
    दुआएं मेरी आपको
    यूँ ही मिलाते रहो
    हर दिन हंसी खुशी से गुजरे
    उम्मीद करते रहो

    वन्दना said...

    बहुत बढिया प्रयास्………सुन्दर संकलन्।

    Anwar Ahmad said...

    नेट पर न के बराबर ही आ पा रहा हूं। आपकी कोशिश अच्छी है। इस बहाने एक यादगार फ़ोटो भी मयस्सर आ गया। जिसके लिए तहे-दिल से शुक्रगुज़ार रहेंगे। सभी ब्लॉगर्स की मेहनत फले-फूले, रमज़ान की इब्तिदा में हम यह दुआ करते हैं।
    शास्त्री जी की कुंडलियां पसंद आयीं।
    वस्सलाम .

    रचना दीक्षित said...

    एक बेहतरीन प्रयास
    बधाई

    shilpa mehta said...

    बढ़िया मीटिंग चल रही है - :)

    DR. ANWER JAMAL said...

    जी हाँ .
    @ शिल्पा जी , आपको कैसे लगे अपने लिंक्स यहाँ पर ?
    शुक्र है इस बहाने आपने अपने ब्लॉग से निकलना तो सीखा .
    दरअसल हमारी कोशिश है कि लोगों के मन में जो नफ़रतें और दूरियां बेवजह क़ायम हैं उन्हें गिराकर दिल के आंगन को एक कर दिया जाए जहां प्यार के फूल खिलें और हमदर्दी की हवा उनकी ख़ुश्बुओं को सारे जहान में फैला दे। इस महान काम को हिंदी के ज़रिये हिंदी ब्लॉगर आराम से कर सकते हैं, घर बैठे ही, बिना किसी फ़िज़ूलख़र्ची और आडंबर के, बिना अतिरिक्त समय लगाए।
    ‘ब्लॉगर्स मीट वीकली‘ का यही कॉन्सेप्ट है। लोग हल्के हल्के इसे समझेंगे और जो लोग किसी वजह से यहां नहीं आ पाएंगे वे अपने ब्लॉग पर इसे ज़रूर दोहराएंगे।
    यही हमारी सफलता होगी।

    आशा said...

    बहुत अच्छा प्रयास है कई लोगों को एक मंच पर लाने के लिए |बधाई
    मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार
    आशा

    Sunil Deepak said...

    धन्यवाद अनवर जी

    Sawai Singh Rajpurohit said...

    आदरणीय अनवर जी
    बेहतरीन प्रयास है आपका ब्लाग की दुनिया में.

    mahendra srivastava said...

    वाकई लगता है काफी मेहनत हुई है। कहां कहां से लिंक्स तलाशे गए हैं। बहुत सुंदर

    मुझे स्थान देनेके लिए आपका शुक्रिया

    DR. ANWER JAMAL said...

    @ शालिनी जी ! आपकी भी हिम्मत है भई, इतनी रात गये तक आप जमी हुई हैं नेट पर, भारतीय नारी को आप वाक़ई ज़बर्दस्त तरीक़े से स्थापित करेंगी।
    शुभकामनाएं !

    @ अना जी ! आपकी शुभकामनाएं क़ुबूल हैं।
    शुक्रिया !

    @ ख़ुशदीप भाई ! हमने आपसे कहा था न कि आपको ‘चूहे का आंदोलन‘ वाली कहानी ज़रूर पसंद आएगी।
    शुक्रिया !

    @ महेंद्र जी ! आप आये और सराहा तो हमारी मेहनत सफल हुई .
    शुक्रिया .

    Aslam Qasmi said...

    आपकी ख़ैर की कोशिशें शर पर भारी पड़ रही हैं और अमनपसंद साथ आ रहे हैं। यह एक अच्छी अलामत है। सभी भाईयों और बहनों को सभी भारतीय त्यौहारों की मुबारकबाद और रमज़ान की भी।
    आज रमज़ान की तैयारी करनी है। आपकी वजह से इधर आना हो गया।
    रमज़ान मुबारक हो।

    DR. ANWER JAMAL said...

    @ हकीम यूनुस साहब !
    @ राजेन्द्र तेला जी !
    @ वंदना जी !
    @ रचना दीक्षित जी !
    @ अनवार अहमद साहब !
    आपके आने से इस मजलिस में चार-पांच चांद लग गए हैं।
    शुक्रिया आप सभी का।

    रवीन्द्र प्रभात said...

    ब्लॉगर वीकली की कामयाबी के लिए शुभकामनाएं...

    Er. सत्यम शिवम said...

    बहुत सुंदर आयोजन..बधाई।

    Manish Kr. Khedawat said...

    बहुत सुंदर प्रयास !
    बधाई हो !!
    आभार !!

    Sadhana Vaid said...

    इस ब्लॉगर मीट की जितनी तारीफ़ की जाये कम ही होगी ! आपका प्रयास नि:संदेह सराहनीय है ! मुझे आपने याद रखा और मेरी रचना को इसमें स्थान दिया इसके लिये तहे दिल से आपकी शुक्रगुजार हूँ ! यह सिलसिला इसी तरह जारी रहे यही शुभकामना है ! आयोजन मण्डली के सभी बंधुओं का हार्दिक धन्यवाद एवं अभिनन्दन !

    DR. ANWER JAMAL said...

    आप सभी भाई बहनो के लिए एक ख़ुशख़बरी :
    अल्लाह का शुक्र है , उसने हम पर अपना फ़ज़्ल किया और आज 4 : 25 PM पर हमें एक बच्चा अता किया , अल-हम्दुलिल्लाह !

    आदरणीय शास्त्री जी की कुंडलियाँ साकार हो रही हैं।
    :):)

    prerna argal said...

    बहुत बहुत बधाई आपको /भगवान् उस नन्हे फरिश्ते को स्वस्थ ,प्रसन्न रखे और खूब दीर्घायु प्रदान करे /यही कामना है /

    shilpa mehta said...

    बहुत सी बधाईयाँ - वैसे अभी तो आप बधाई लेने यहाँ होंगे नहीं - बच्चे के साथ होंगे - बहुत ख़ुशी हुई खबर सुन कर ..

    mahendra srivastava said...

    वाह.. आपको शुभकामनाएं,
    बच्चे को ढेर सारा दुलार

    ईश्वर से प्रार्थना है सभी स्वस्थ और प्रसन्न रहें।

    DR. ANWER JAMAL said...

    @ शिल्पा जी ! सच्चा ब्लॉगर किसी हाल में भी ब्लॉगिंग नहीं छोड़ता है . हम यहीं हैं आपकी बधाईयाँ लेने के लिए .
    यह मीट इसी लिए तो रखी जाती है कि यहाँ हम अपनी खुशियाँ आपस में साझा करें .
    शुक्रिया .

    @ महेंद्र जी ! आपका भी शुक्रिया.
    ४:१५ PM पर हस्पताल में दाखिल किया और ४:२५ PM पर बच्चा गोद में आ गया
    यह सब मालिक की महर है . डिलीवरी नॉर्मल हुई है और ज़च्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं .
    अल-हम्दु-लिल्लाह .

    Rachana said...

    aapko bahut bahut mubarak ho .aapke pure parivar ko ye khushi mubarak ho
    kya aapne bachche ka koi naam rakha ?
    bhagvan bachche ko lambi umr de.
    rachana

    DR. ANWER JAMAL said...

    @ रचना जी ! अभी बच्चे का कोई नाम नहीं रखा गया है । अभी तो बच्चे को मालिक का नाम ही सुनाया है जिसके लिए बच्चे को अज़ान और अक़ामत सुनाई जाती है ताकि बच्चा ये शऊर लेकर बढ़े कि पूरी ज़िंदगी ही एक नमाज़ है , एक इबादत है ।
    बच्चे के नाम के बारे में आपके पास कोई बेहतर मशविरा हो तो आप इनायत कीजिएगा ।

    शुक्रिया ! अभी तो बच्चे को मालिक का नाम ही सुनाया है जिसके लिए बच्चे को अज़ान और अक़ामत सुनाई जाती है ताकि बच्चा ये शऊर लेकर बढ़े कि पूरी ज़िंदगी ही एक नमाज़ है , एक इबादत है ।
    बच्चे के नाम के बारे में आपके पास कोई बेहतर मशविरा हो तो आप इनायत कीजिएगा ।

    शुक्रिया !

    अभिषेक मिश्र said...

    अच्छा प्रयास है आपका.

    अनवर जमाल साहब को भी बधाई और ब्लॉग परिवार के 'नवागंतुक' सदस्य का हार्दिक स्वागत. :-)

    संगीता स्वरुप ( गीत ) said...
    This comment has been removed by the author.
    संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

    पूरे सप्ताह के अच्छे लिंक्स का चयन कर एक जगह देना ... प्रशंसनीय प्रयास है ... यह मिलन कीर्तिमान स्थापित करे यही शुभकामना है ..

    @@ अनवर जी आपको बहुत बहुत बधाई बच्चे को शुभकामनायें और आशीर्वाद

    prerna argal said...

    आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद /आप सब इस ब्लॉगर वीक मीटली(२) के चर्चा-मंच में पधारे और हमारे प्रयाशों को सराहा /आशा है ऐसे ही आप सबका सहयोग हमेशा मिलता रहेगा और हमारा उत्साह्वर्दन करता रहेगा/आभार /

    डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

    "कबिरा खड़ा बजार में, सबकी माँगे खैर!
    ना काहू से दोस्ती, ना काहू से बैर!!"
    --
    ‘ब्लॉगर्स मीट वीकली‘ (2) में सभी ब्लॉगर साथियों का शुक्रिया अदा करता हूँ!
    डॉ. अनवर ज़माल साहिब का यह एक सार्थक प्रयास है! ‘ब्लॉगर्स मीट वीकली‘ को बहुत ही निष्पक्ष ढंग से पेश करने के लिए मैं बहन प्रेरणा अरगल जी को भी धन्यवाद अता करता हूँ!
    --
    पूरे हफ्ते भर की हिन्दी ब्लॉगिंग को एक जगह पर पढ़वाने के लिए आपने जो बीड़ा उठाया है, मुझे आशा है कि वह भविष्य में मील का पत्थर साबित होगा!
    --
    आप सभी सुधि पाठकों का आभार व्यक्त करता हूँ! इंशाल्ला अगले सोमवार को फिर आपके सामने हिन्दी ब्लॉगिंग की गतिविधियाँ आयेंगी!
    --
    रमजान के मुक़द्दस महीने कि अज्मतें और फ़ज़ीलतें आपको मुबारक हों!
    --
    सावन की हरियाली तीज की आप सबको शुभकामनाएँ!

    Rajesh Kumari said...

    bloger weekli ki safalta ke liye badhaai.achche link prapt hue.meri rachna ko shaamil karne ke liye prernaa ji ko abhar.

    ईं.प्रदीप कुमार साहनी said...

    Bahut sundar aayojan raha. Is tarah ka aayojan hum jaise naye bloggers ke liye kafi lafdayak hai. Dhanyawad aur aabhar..

    विजय तिवारी " किसलय " said...

    ख़ुशी की बात है कि ‘हिंदी साहित्य संगम‘ जल्दी ही एक नई वेबसाइट पर दिखेगा।
    मेरे ब्लॉग को शामिल करने के लिए आभार.
    - विजय तिवारी 'किसलय'

    Tarkeshwar Giri said...

    Meeting aur Romjan ki Mubarakbad

    सुशील बाकलीवाल said...

    ब्लागर समुदाय के लिये अधिकतम उपयोगी इस श्रमसाध्य प्रयास के लिये हार्दिक शुभकामनाएँ व आभार...

    सुमन'मीत' said...

    bahut bahut shukriya meri rachna ko sthan dene ke liye

    Read Qur'an in Hindi

    Read Qur'an in Hindi
    Translation

    Followers

    Wievers

    Gadget

    This content is not yet available over encrypted connections.

    गर्मियों की छुट्टियां

    अनवर भाई आपकी गर्मियों की छुट्टियों की दास्तान पढ़ कर हमें आपकी किस्मत से रश्क हो रहा है...ऐसे बचपन का सपना तो हर बच्चा देखता है लेकिन उसके सच होने का नसीब आप जैसे किसी किसी को ही होता है...बहुत दिलचस्प वाकये बयां किये हैं आपने...मजा आ गया. - नीरज गोस्वामी

    Check Page Rank of your blog

    This page rank checking tool is powered by Page Rank Checker service

    Hindu Rituals and Practices

    Technical Help

    • - कहीं भी अपनी भाषा में टंकण (Typing) करें - Google Input Toolsप्रयोगकर्ता को मात्र अंग्रेजी वर्णों में लिखना है जिसप्रकार से वह शब्द बोला जाता है और गूगल इन...
      5 years ago

    हिन्दी लिखने के लिए

    Transliteration by Microsoft

    Host

    Host
    Prerna Argal, Host : Bloggers' Meet Weekly, प्रत्येक सोमवार
    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

    Popular Posts Weekly

    Popular Posts

    हिंदी ब्लॉगिंग गाइड Hindi Blogging Guide

    हिंदी ब्लॉगिंग गाइड Hindi Blogging Guide
    नए ब्लॉगर मैदान में आएंगे तो हिंदी ब्लॉगिंग को एक नई ऊर्जा मिलेगी।
    Powered by Blogger.
     
    Copyright (c) 2010 प्यारी माँ. All rights reserved.