बलोगर्स मीट वीकली (16) Eid Mubarak

Posted on
  • Monday, November 7, 2011
  • by
  • Prerna Argal
  • in
  • Labels: ,
  •                                        
    ब्लॉगर्स  मीट वीकली (16)
    ईद मुबारक 
    सबसे पहले मेरे सारे ब्लॉगर साथियों को प्रेरणा अर्गल प्रणाम और सलाम .
    मैं कुछ दिनों के लिए आप सबसे दूर गई थी पर अब हाजिर हूँ आप सबके सामने इस मंच की नई पेशकश के साथ.
    सबसे पहले मैं इस मंच के सभापति आदरणीय  श्री रूपचंद शास्त्री जी का स्वागत करती हूँ / उनके आशीर्वाद से ही यह मंच अपनी नई उंचाइयों की और अग्रसर है /आप सभी का भी आज की प्रस्तुति पर स्वागत है /आइये और अपने विचारों से हमें अवगत करिए /
                                   ब्लोगर्स मीट वीकली (१६)


                                                 
             "हार नहीं मानूँगा" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

    जब तक तन में प्राण रहेगा, हार नहीं मानूँगा।
    कर्तव्यों के बदले में, अधिकार नहीं मागूँगा।।


    आज सबसे पहले मंच की पोस्ट्स 

     अनवर जमाल जी की रचनाएँ 

    पाकिस्तान ने अंततः भारत को मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा दे दिया


      अख्तर  खान  "अकेलाजी "   की रचनाएँ

    .बात त्यौहार और खासकर इस्लाम से जुड़े क़ुरबानी के त्यौहार ईदुज्जुहा की है








    में तो अकेला चला था जानिबे मंजिल ...

    अगज़ल ----- दिलबाग विर्कजी की रचना 

    मंच के बाहर की पोस्ट   

    दिव्या जी की रचना 

      वतन की राह में वतन के नौजवाँ शहीद हों...

    पूनम जी की रचना 

    गुफ्तगू........

    दर्शन कौर जी की रचना 
    आशा जी की रचना 
     मेरी पहचान
    सलीम अख्तर सिद्दीक़ी जी की रचना 
    बिखराव के रास्ते पर अन्ना टीम

    रविन्द्र प्रभात जी की रचना 

    मीनाक्षी पन्त जी की रचना 

    बस एक आस

    नीलेश माथुर जी की रचना 

    साधना वैद जी की रचना 

    चिराग और जुगनू

    राजेश कुमारी जी की रचना 

    मिलन का इन्द्रधनुष


    सुनील कुमार जी की रचना 

    व्यर्थ आंसू .......

    दीप्ती शर्मा जी की रचना 


    रवीन्द्र प्रभात जी की रचना 

    कोहरा छाने लगा है









    विवेक जैन जी की रचना 
      

    संगीता स्वरुप जी की रचना 


    clouds-m6n7.jpg (1292195 Byte) cloud sky picture
    कुवंर कुसुमेश जी  की रचना 
    बबली जी की रचना 



    राजेंद्र स्वर्णकार जी  के छंद 

    प्रिय छंद सुनिए प्रेम से , हम ने कहे हैं प्रेम से


    अब मेरी एक पुरानी रचना 

    जीवन चक्र

    ब्लॉग की ख़बरें पर 

    अरे भई साधो......: टीम अन्ना को संयम और समन्वय की ज़रूरत

    अन्ना हजारे ने अपना ब्लॉग बंद करने का ऐलान किया है. उनकी नाराजगी का कारण उनका पत्र समय से पहले सार्वजनिक कर दिया जाना है.

    अजेय भारत के निर्माण के लिए... - डॉ. अनवर जमाल

    ...अधिकांशतः अपने फ़र्ज़ की अदायगी को लेकर ‘ईमानदार’ नहीं हैं ।
    जब उनके दिल में ‘ईमान’ ही नहीं है तो ईमानदारी आयेगी भी कैसे ?
    ईमान क्या है ?
    ईमान यह है कि आदमी जान ले कि सच्चे मालिक ने उसे इस दुनिया में जो शक्ति और साधन दिए हैं उनमें उसके साथ -साथ दूसरों का भी हक़ मुक़र्रर किया है। इस हक़ को अदा करना ही उसका क़र्ज़ है। फ़र्ज़ भी मुक़र्रर है और उसे अदा करने का तरीक़ा और हद भी। जो भी आदमी इस तरीक़े से हटेगा और अपनी हद से आगे बढ़ेगा। मालिक उस पर और उस जैसों पर अपना दण्ड लागू कर देगा। इक्का दुक्का अपवाद व्यक्तियों को छोड़ दीजिए तो आज हरेक आदमी बैचेनी और दहशत में जी रहा है। हरेक को अपनी सलामती ख़तरे में नज़र आ रही है।

     Tech. Aggregator 
    पर देखें -

    अपनी सारी पोस्ट गूगल सर्च इंज़न पर कैसे देखें ~ Tips Hindi Mein / टिप्स हिंदी में: बहुत ही आसान है ये सब करना .

    20 comments:

    चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ said...

    very good

    Sadhana Vaid said...

    सभी साथियों को पावन ईद के अवसर पर हार्दिक बधाइयाँ व शुभकामनायें ! आज की वीकली मीट के सभी लिंक्स बहुत खूबसूरत है ! मेरी रचना को इसमें शामिल किया आभारी हूँ !

    DR. ANWER JAMAL said...

    @ साधना जी और चन्द्रभूषण जी !
    ब्लॉगर्स मीट वीकली की यह 16 वीं क़िस्त पूरी तरह प्रेरणा अर्गल जी का करिश्मा है। अंत के दो चार लिंक ही बस हमने जोड़े हैं।
    आपका भी शुक्रिया और प्रेरणा अर्गल जी का भी !!!

    prerna argal said...

    बहुत बहुत धन्यवाद आप सबका की आप सब मंच पर पधारे और और प्रस्तुति को सराहा /डॉ. साहब आपके द्वारा दिए गए तकनीकी ज्ञान से आज मैं आपके सहयोग से अकले ही इस प्रस्तुति को प्रस्तुत करने के लिए सक्षम हो पायी हूँ /इसके लिए मैं आपकी बहुत आभारी हूँ /पर मुझे आपके मार्गदर्शन की जरुरत हमेशा ही रहेगी /धन्यवाद /

    Rajesh Kumari said...

    sabhi ko id mubaarak.achche link padhne ko mile prerna ji ko shubhkamnaye.mere indradhanush ko sthan diya haardik aabhari hoon.

    Kunwar Kusumesh said...

    ब्लोगेर मीट में मुझे शामिल किया,आभार.
    ईद मुबारक.

    Minakshi Pant said...
    This comment has been removed by the author.
    Minakshi Pant said...

    मेरे सभी सम्मानित मित्रों को ईद की हार्दिक शुभकामनायें और मेरी रचना को सम्मान देते रहने के लिए मैं आपका बहुत - बहुत शुक्रिया करती हूँ दोस्त आपकी इस सुन्दर मेहनत को सलाम | आप इसी तरह हिंदी भाषा को लेकर लोगों के दिलों में उत्साह जगाती रहे मेरी शुभकामनाएं हमेशा आपके साथ है |
    शुक्रिया दोस्त |

    संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

    ईद की शुभकामनायें ... सराहनीय प्रयास .. आभार मेरी रचना को शामिल करने के लिए

    devendra gautam said...

    सभी मित्रों और गुरुजनों को ईद मुबारक. ब्लॉगर मीट का काफिला इसी तरह निरंतर आगे बढ़ता रहे. यही कामना है.

    Babli said...

    प्रेरणा जी आपने बड़े ही खूबसूरती से ब्लोगेर्स मीट विकली प्रस्तुत किया है! ढेर सारे बढ़िया लिंक्स मिले! मेरी कविता शामिल करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद!
    मेरे नये पोस्ट पर आपका स्वागत है-
    http://seawave-babli.blogspot.com/

    prerna argal said...

    आप सभी का बहुत बहुत आभार की आप सबको मेरा प्रयास अच्छा लगा /और मेरे द्वारा चयन किये गए लिनक्स आपको अच्छे लगे /आप सबका सहयोग इस मंच को इसी तरह मिलता रहे यही आशा है /शुक्रिया /

    Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार said...






    आदरणीया प्रेरणा जी
    एवं
    ब्लोगर्स मीट वीकली के सभी अयोजनकर्ता बहन-भाइयों
    को सस्नेहाभिवादन ! और शुभकामनाएं !


    आभारी हूं !
    आपने समस्या पूर्ति मंच पर प्रकाशित मेरे लिखे हरिगीतिका छंदों को ब्लोगर्स मीट वीकली (१६)के मंच पर स्थान देने की कृपा की इसके लिए हार्दिक आभार !


    अन्य लिंक भी बहुत सराहनीय हैं … कुछ पर गया हूं , कई जगह अब जाऊंगा ।

    बधाई और मंगलकामनाओं सहित…
    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    Dr. Ayaz Ahmad said...

    विज्ञान के युग क़ुरबानी पर ऐतराज़ क्यों ?
    ब्लॉगर्स मीट वीकली 16 में यह शीर्षक देखकर लिंक पर गया तो उन सारे सवालों के जवाब मिल गए जो कि क़ुरबानी और मांसाहार पर अक्सर हिंदू भाई बहनों की तरफ़ से उठाए जाते हैं।
    पता यह चला कि अज्ञानतावश कुछ लोगों ने यह समझ रखा है कि फल, सब्ज़ी खाना जीव को मारना नहीं है। जबकि ये सभी जीवित होते हैं और इनकी फ़सल को पैदा करने के लिए जो हल खेत में चलाया जाता है उससे भी चूहे, केंचुए और बहुत से जीव मारे जाते हैं और बहुत से कीटनाशक भी फ़सल की रक्षा के लिए छिड़के जाते हैं।

    प्रेरणा जी का लिंक चयन पसंद आया ,
    शुक्रिया !!!

    Dr. Ayaz Ahmad said...

    विज्ञान के युग क़ुरबानी पर ऐतराज़ क्यों ?
    ब्लॉगर्स मीट वीकली 16 में यह शीर्षक देखकर लिंक पर गया तो उन सारे सवालों के जवाब मिल गए जो कि क़ुरबानी और मांसाहार पर अक्सर हिंदू भाई बहनों की तरफ़ से उठाए जाते हैं।
    पता यह चला कि अज्ञानतावश कुछ लोगों ने यह समझ रखा है कि फल, सब्ज़ी खाना जीव को मारना नहीं है। जबकि ये सभी जीवित होते हैं और इनकी फ़सल को पैदा करने के लिए जो हल खेत में चलाया जाता है उससे भी चूहे, केंचुए और बहुत से जीव मारे जाते हैं और बहुत से कीटनाशक भी फ़सल की रक्षा के लिए छिड़के जाते हैं।

    प्रेरणा जी का लिंक चयन पसंद आया ,
    शुक्रिया !!!

    nilesh mathur said...

    बहुत सुंदर, आभार।

    डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

    सबसे पहले तो अपने सभी मुस्लिम भाइयों को ईदुलजुहा की बहुत बहुत मुबारकवाद!
    अब रही बात कुर्बानी की!
    यहाँ तो इतना ही कहना पर्याप्त होगा कि सब अपने धर्म का पालन करें! हमारे मुल्क का संविधान सबको अपने-अपने मजहब के अनुसार पूजा-पाठ और धार्मिक अरकान करने की आजादी देता है!
    आज की ब्लॉगर मीट-16 में बहन प्रेरणा अर्गल और डॉ. अनवर जमाल साहिब ने बहुत अच्छे लिंको का चयन किया है! आप लोग लिंकों पर जाएँ और अपने मन की टिप्पणी दें। मगर हाजिरी लगाना तो यहाँ भी जरूरी होता है। आपकी टिप्पणियों से निश्चितरूप से ऊर्जा और प्रेरणा मिलती है और इस मीट को सजाया भी तो प्रेरणा ने ही है!
    यहाँ पधारने के लिए सबका बहुत-बहुत शुक्रिया!

    ana said...

    sabhi links pah liye....padhane ke liye dhanyavad

    prerna argal said...

    आप सबका बहुत धन्यवाद की आप सब ब्लोगर्स मीट वीकली (१६)के मंच पर पधारे और हमारे द्वारा चयन किये गए लिंक पसंद किये /आप सबका सहयोग इसी तरह इस मंच को मिलता रहेगा यही आशा है /आभार /

    आशा said...

    प्रेरणा जी मुझे ब्लोगर्स मीट की रचनाएँ बहुत अच्छी लगती हैं |
    आपका बहुत बहुत धन्यवाद मेरी पहचान बताने के लिए |मेरी रचना इस एक में शामिल करने के लिए आभार |
    आशा

    Read Qur'an in Hindi

    Read Qur'an in Hindi
    Translation

    Followers

    Wievers

    Gadget

    This content is not yet available over encrypted connections.

    गर्मियों की छुट्टियां

    अनवर भाई आपकी गर्मियों की छुट्टियों की दास्तान पढ़ कर हमें आपकी किस्मत से रश्क हो रहा है...ऐसे बचपन का सपना तो हर बच्चा देखता है लेकिन उसके सच होने का नसीब आप जैसे किसी किसी को ही होता है...बहुत दिलचस्प वाकये बयां किये हैं आपने...मजा आ गया. - नीरज गोस्वामी

    Check Page Rank of your blog

    This page rank checking tool is powered by Page Rank Checker service

    Hindu Rituals and Practices

    Technical Help

    • - कहीं भी अपनी भाषा में टंकण (Typing) करें - Google Input Toolsप्रयोगकर्ता को मात्र अंग्रेजी वर्णों में लिखना है जिसप्रकार से वह शब्द बोला जाता है और गूगल इन...
      4 years ago

    हिन्दी लिखने के लिए

    Transliteration by Microsoft

    Host

    Host
    Prerna Argal, Host : Bloggers' Meet Weekly, प्रत्येक सोमवार
    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

    Popular Posts Weekly

    Popular Posts

    हिंदी ब्लॉगिंग गाइड Hindi Blogging Guide

    हिंदी ब्लॉगिंग गाइड Hindi Blogging Guide
    नए ब्लॉगर मैदान में आएंगे तो हिंदी ब्लॉगिंग को एक नई ऊर्जा मिलेगी।
    Powered by Blogger.
     
    Copyright (c) 2010 प्यारी माँ. All rights reserved.