ब्लॉगर्स मीट वीकली (39) Nirmal Baba ki tisri aankh

Posted on
  • Monday, April 16, 2012
  • by
  • DR. ANWER JAMAL
  • in
  • Labels:
  • मालिक हम सब को शांति दे !
    आमीन .
    शांति के साथ सबसे पहले हिंदी ब्लॉगर्स फ़ोरम इंटरनेशनल की ताज़ा पोस्ट्स का लुत्फ़ उठाइये
    1- श्यामल सुमन

    खबरों की अब यही खबर है

    देश की हालत बुरी अगर हैसंसद की भी कहाँ नजर है

    सूर्खी में प्रायोजित घटनाखबरों की अब यही खबर है


    सुमन अंत में सो जाए

    कैसा उनका प्यार देख ले 

    आँगन में दीवार देख ले

    दे बेहतर तकरीर प्यार पर

    फिर उनका तकरार देख ले  

    चेतना

    कहीं बस्ती गरीबों की कहीं धनवान बसते हैं

    सभी मजहब के मिलजुल के यहाँ इन्सान बसते हैं

    भला नफरत की चिन्गारी कहाँ से आ टपकती है,

    जहाँ पर राम बसते हैं वहीं रहमान बसते हैं

    3- डा. अयाज़ अहमद

    हमने बादल देख के मटके फोड़ लिए थे

    तुम से मिल कर सबसे नाते तोड़ लिए थे 
    हमने बादल देख के मटके फोड़ लिए थे

     4- डा. अशोक कुमार

    सितारा बन जगमगाते रहो

    दर्द कैसा भी हो आंख नम न करो,रात काली सही कोई गम न करो ।

    एक सितारा बनो जगमगाते रहो,जिंदगी मेँ सदा मुस्कुराते रहो

    5- Devendra Gautam

    fact n figure: निर्मल बाबा के विरोध का सच

    निर्मल बाबा की पृष्ठभूमि खंगाली जा रही है. प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रोनिक मीडिया और इन्टरनेट मीडिया तक ने उनके विरुद्ध हल्ला बोल दिया है.  

    fact n figure: कृपा के कारोबार में टीवी चैनलों की भूमिका

    निर्मल बाबा का ईश कृपा का कारोबार पूरी तरह इलेक्ट्रोनिक मीडिया की बदौलत चल रहा है. प्रिंट मीडिया ने साथ उनका कोई लेना देना नहीं रहा.

    fact n figure: अपना ही गिरेबां भूल गए निर्मल बाबा

    आज तक चैनल पर निर्मल बाबा का इंटरभ्यू उनपर लगे आरोपों का खंडन नहीं बन पाया. किसी सवाल का वे स्पष्ट जवाब नहीं दे सके.

    जाने किस उम्मीद के दर पे खड़ा था.

    जाने किस उम्मीद के दर पे खड़ा था. 

    बंद दरवाज़े को दस्तक दे रहा था. 

    6- Dr. Anwer Jamal

    देबी प्रसाद चटटोपाध्याय की ‘लोकायत‘ पर चर्चा बनी ब्लॉगर्स मीट में देरी की वजह


    आज हमारे एक पुराने मित्र आ गए। वेद, क़ुरआन, साइंस और इतिहास पर उनसे चर्चा चली तो वह 5 घंटे तक चली। अभी अभी उठकर गए हैं। अब रात के 3 बजने वाले हैं। यही टाइम था जबकि हम ब्लॉगर्स मीट वीकली 39 की तैयारी करते। 

    ब्लॉगर्स मीट वीकली (38) Human Nature


    अस्-सलामु अलैकुम और ओउम् शांति के बाद, आप सभी का हार्दिक स्वागत है हिंदी ब्लॉगर्स फ़ोरम इंटरनेशनल की ताज़ा पोस्ट्स के साथ  
    डॉ. श्यामल सुमन 
    भाई से प्रतिघात करोमजबूरी का नाम न लो मजबूरों से काम न लो वक्त का पहिया घूम रहा है व्यर्थ कोई इल्जाम न लो  खुदा भी क्या मौसम देते हैं खुशियाँ जिनको हम देते हैंवो बदले में गम देते हैंजख्म...
    Read More...

    मंच से बाहर ब्लॉग जगत की ताज़ा ख़बर वही पुरानी ख़बर है जिसका तज़्करा देवेन्द्र पाण्डेय जी कर रहे हैं

    ब्लॉग चर्चा

    हम परेशान हैं। ईर्ष्या और जलन से हमारी छाती फटी जा रही है।

    उनकी जलन दूर करने के लिए हमने एक लिंक का फ़व्वारा उन पर छोड़ा है। 


    "खादी का अपमान किया है" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

    नर ही नारायण बनकर, कल्याण स्वयं का करते हैं
    भोले-भालों को भरमाकर, अपनी झोली भरते हैं
    मकड़ी के जालों में उलझी, जनता सीधी-सादी है

     

    My Photo

    खुद कृपा के लिए लाचार है निर्मल बाबा ...


    निर्मल बाबा मुश्किल में हैं, भक्तों के लिए ईश्वर की कृपा का रास्ता खोलने वाले बेचारे बाबा अब खुद कृपा के लिए लाचार हैं।

    ...उनकी अपील के बाद इक्का दुक्का फोन ही टीवी चैनल्स के दफ्तरों में पहुंचे, जो बाबा के गुण गा रहे हैं। बल्कि बाबा की ठगी के शिकार  भक्त ज्यादा फोन कर रहे हैं।
    बताओ कोई भक्त मुश्किल में है, उससे ये बाबा पूछता है कि तुम्हारे सामने मुझे आलू की टिक्की क्यों दिखाई दे रही है।

    लोग ऐसी बातें देख धर्म से भी दूर हो जाते हैं इसीलिए हमने सदा ही ऐसे लोगों का विरोध किया है लेकिन हरेक बाबा के भक्त अपने बाबा को ठीक मानते हैं।
    ईश्वर के स्वरूप और मनुष्य के लिए उसकी योजना और आदेश को जब तक न जाना जाएगा तब निर्मल बाबा टाइप के व्यापारियों से बचना असंभव है। 



    कुँवर कुसुमेश 

    प्रतिदिन होता जा रहा,मौसम तुनक मिज़ाज.

    मानो गिरने जा रही, हम पर कोई गाज.

    भ्रष्ट कौन (लघु कथा)

    संगीता तोमर Sangeeta Tomar at नुक्कड़

    पर दिनेश रविकर जी की टिप्पणी
    ग्यानी ध्यानी शिक्षिका, जाने सब गुण-दोष ।
    मुखड़ा अपना न लखे,  दर्पण अति-अफ़सोस ।

    दर्पण अति-अफ़सोस, दूध में बड़ी कमाई ।
    गर परचून दूकान, मिलावट हर घर आई ।

    पुलिस भ्रष्टतम किन्तु, गौर कर मूर्ख सयानी ।
    गंदे वाणी-कर्म, बनी फिरती है ग्यानी ।।

    नारियां भी कम भ्रष्ट नहीं.
    10 Most Corrupt Indian Politicians 

    इस सच्चाई से भी हम इंकार नहीं कर सकते कि कितनी ही गृहणियां  अपने पतियों को भ्रष्टाचार  के लिए उकसाती हैं और अपनी इच्छाओं को पूरा करने हेतु दबाव डालती हैं.


              -ममी! इस बार कितने दिन के लिये आई हो? शिप्रा ने आईने पर से नज़र हटाते हुए मेरी ओर देखते हुए पूछा तो मैं खिलखिला कर हँस दी।  शिप्रा को बाँहों में भरते हुए मैंने कहा- मेरी बेटी जब तक चाहेगी मैं उसके पास रह लूँगी।            
    -अगर मैं वापिस ही न जाने दूँ...?
    प्यारी माँ ब्लॉग पर 
    साधना वैद

    सूर्यास्त


    मैं धरा हूँ रात्रि के गहन तिमिर के बाद भोर की बेला में जब तुम्हारे उदित होने का समय आता है मैं बहुत आल्हादित उल्लसित हो तुम्हारे शुभागमन के लिए पलक पाँवड़े बिछा अपने रोम रोम में निबद्ध अंकुरों को कुसुमित पल्लवित कर तुम्हारा स्वागत करती हूँ ! 

    कम आयु में विवाह करना ही है बेहतर विकल्प !!

    एक समय था जब बच्चों के विवाह संबंधी लगभग सभी फैसले परिवार के बड़े और उनके माता-पिता अपनी सूझबूझ से ले लिया करते थे. बच्चों का विवाह किस उम्र में किया जाना चाहिए और उनके लिए कैसा जीवनसाथी उपयुक्त रहेगा आदि ...

    बाप रे बाप, 600 बच्चों का एक बाप!


    अपने पिता बर्टोल्ड वाइजनर की तस्वीर के साथ बैरी स्टीवंस। (साभार: डेली मेल)पीटीआई ।। लंदन/ हाल ही में ऐसी खबरें सामने आई हैं कि ब्रिटेन के एक जानेमाने वैज्ञानिक करीब 600 बच्चों के पिता थे।

    वालिदैन (मां बाप)

    मां बाप हैं अल्लाह की बख्शी हुई नेमत 

    मिल जाएं जो पीरी में तो मिल सकती है जन्नत 

    बड़ा ब्लॉगर कैसे बनें ? ब्लॉग पर 

    यौन शिक्षा देता है बड़ा ब्लॉगर

    आत्मा कहां से आती है कोई नहीं जानता लेकिन जिस मार्ग से मनुष्य शरीर आता है, उसे सब जानते हैं। ज्ञात के सहारे अज्ञात का पता लगाना मनुष्य का स्वभाव है। आत्मा, परमात्मा और परमेश्वर सब कुछ अज्ञात है। अगर हमें कुछ ज्ञात है तो वह मनुष्य शरीर है या फिर वह मार्ग जहां से वह आता है। ‘इश्क़े मजाज़ी‘ का मार्ग यही है और ‘इश्क़े हक़ीक़ी‘ तक भी पहुंचने के लिए ‘इश्क़े मजाज़ी‘ लाज़िम है।
    इसी रास्ते की खोज ने आदमी को वैज्ञानिक बना दिया।
    Dr. Arvind Mishra 

    बच्चों को नहीं यहाँ प्रौढ़ों को यौन शिक्षा की जरुरत है !

     दो मुख्य यौन रसायन -टेस्टोस्टेरान  और इस्ट्रोजेन का उत्पादन मस्तिष्क शुरू करता है -यह वही अवसर है जब विपरीत लिंग के प्रति जबरदस्त आकर्षण होता है .
    ब्लॉग की ख़बरें पर ब्लॉग जगत की ताज़ा ख़बरें 

    बलात्कार का पुरस्कार महिला सैनिक को ?

     
    वाशिंगटन । अमरीकी फ़ौज में आबरू रेज़ी के वाक़यात में मुसलसल इज़ाफा हो रहा है.
    रिपोर्ट में बताया गया है इन हमलों की बड़ी वजह शराबनोशी है.



    हिंदी  ब्लॉग जगत की ताज़ा ख़बर
    ... की कविता पर गिनती के कुछ ऐतराज़ आये तो उन्होंने पहले तो अपनी बहुचर्चित कविता की

    Thumbnail

    Quranic Morals / Values - Solution to Issues of World - Urdu

    قرآنی اخلاق دنیا کے مسائل کا حل A great documentary in Urdu language, highlighting some of the major issues of the world, and emphasizing that ...
    by MrJafri110 3 months ago 33 views
    चंद्र भूषण मिश्र जी की पेशकश चर्चा मंच पर  
    चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ का नमस्कार! सोमवारीय चर्चामंच पर पेशे-ख़िदमत है आज की चर्चा का-
     लिंक नं. 1-
    क्षणिकाएँ-
    मेरा फोटो
    मेरा फोटो

     सुरक्षित नहीं है अपने आप दवा लेना

    पेन किलर्स हैं खतरनाक 
    जब आप स्लीपिंग पिल्स और ऐंटिबायॉटिक अपनी मर्जी से लेते हैं , तो ये आपके लिए बेहद नुकसानदेह हो सकती हैं। खासतौर पर जब आपको नहीं पता कि आप इसके जरिए कौन से स्पेसिफिक कंपाउंड ले रहे हैं ? 
    अच्छी सेहत के लिए देखें ‘तिब्बे नबवी‘ 

     

    चुकंदर  लिवर,पित्ताषय,तिल्ली, और गुर्दे के विकारों को  लाभप्रद पाया गया है। इन अंगों के दूषित तत्वों को बाहर निकालने की शक्ति  चुकंदर में पाई गई है।

    तकनीक का इस्तेमाल करने से हम निश्चित तौर पर खुद को काफी रिलैक्स यानी आराम की स्थिति में पाते हैं। अब यदि आपसे कहा जाए कि जितने भी गैजेट्स आपके पास हैं वह सब वापस कर दें और वैसे ही जिएं जैसे हमसे 3 दशक पहले की पीढिय़ां जीती थीं। क्या यह संभव होगा? 
    मोबाइल फोन के रेडिएशन के खतरे बढ़ते जा रहे हैं लेकिन बड़ी-बड़ी कंपनियों के व्यापारिक हितों की वजह से ऐसे शोध सामने नहीं आ पा रहे हैं, जिनमें इससे स्वास्थ्य पर होने वाले नुकसान की पुष्टि हुई है।

    लंबी उम्र के लिए कई मोर्चों पर चाक -चौबंद रहने की जरूरत पड़ती है।

    16 comments:

    रविकर फैजाबादी said...

    NICE

    कुमार राधारमण said...

    अच्छी चर्चा है। ख़ासकर,निर्मल बाबा पर ब्लॉगरों ने अच्छी कृपा बरसाई है। उनसे जुड़ी पोस्टें ब्लॉगजगत की जागरूकता का संकेत देती हैं।

    डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

    आभार!

    डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

    आम चूसकर लोग तो, गुठली देते फेंक।
    लेकिन गुठली में भरे, गुण हैं बहुत विशेष।।

    महेन्द्र श्रीवास्तव said...

    मैं देखता हूं कि अगर किसी वजह से आप तीन चार दिन ब्लागों कोनहीं देख पाए, तो परेशान होने की वाकई जरूरत नहीं है,
    बस आपको ब्लागर्स मीट वीकली में हाजिरी लगानी होगी, पूरी तरह अपडेट हो जाएंगे..

    Devendra Gautam said...

    बहुत खूब है यह ब्लॉग जगत की साप्ताहिक झांकी.

    Dr. Ayaz Ahmad said...

    मुल्क में अंधविश्वास का बोलबाला है। पढ़ाई लिखाई के बाद भी आदमी अंधविश्वास में फंसा हुआ है। ठग लोग बाबा बनकर लोगों को दुख दूर करने के आसान तरीक़े बता रहे हैं। ज्योतिषी लोग भी अंधविश्वास से लड़ने के दावे कर रहे हैं। कुंडलियां मिला रहे हैं भविष्य बता रहे हैं।
    धर्म कब का जा चुका है,
    अब अक्ल भी बाक़ी नहीं बची है।
    सबके अपने अपने हित हैं।

    कै किलो कृपा चाहिए ?
    देखिए ब्लॉगर्स मीट 39 को
    http://drayazahmad.blogspot.com/2012/04/blog-post_16.html

    movieztrends.blogspot.in said...

    Too good piece of information, I had come to know about your site from my friend sajid, bangalore,i have read at least 3 posts of yours by now, and let me tell you, your web-page gives the best and the most interesting information. This is just the kind of information that i had been looking for, I’m already your rss reader now and i would regularly watch out for the new post, once again hats off to you! Thanks a lot once again, Regards,
    total recall 2012 colin farrell remake

    सुज्ञ said...
    This comment has been removed by the author.
    सुज्ञ said...

    यह टिप की थी मैने एक ब्लॉग पर…

    ईश्वर को बस कोसने का हाथ लगा यह योग,
    निर्मल मल को चूँथ रहे मलीनवृति के लोग।

    मलीनवृति के लोग बडे हिंसक दो-मुँहे,
    गरीब की रोटी कुतरते ये दोनो ही चुहे।

    एक दुखियों को बस सब्ज़बाग दिखाए,
    दूसरा इनकी प्रतिशोध अग्नी भड़काए।

    'श्रद्धा शोषण' 'साधन शोषण' सुन के नारे,
    यूं उग्रता के नव-शोषण में फंसें बेचारे॥

    जड़-अंधो के दास निकल पडते है सारे,
    पराई आस्था देख उन्हें चढ़ते है पारे॥

    DR. ANWER JAMAL said...

    @ भाई सुज्ञ जी ! किसी ने भी आपसे नहीं पूछा कि आपने किस ब्लॉग पर क्या टिप्पणी की है ?
    अगर किसी अन्य पोस्ट पर की गई टिप्पणी आप यहां कर रहे हैं तो आपको बताना चाहिए कि आप वह टिप्पणी यहां क्यों चिपका रहे हैं ?
    आप निर्मल बाबा का समर्थन करना चाहते हैं तो आप उन पोस्ट्स पर जाएं जिनके लिंक यहां दिए गए हैं लेकिन वहां जाकर यह टिप्पणी देने की हिम्मत आप में नहीं है। सो यहां ला चिपकाई।
    :)

    ब्लॉग जगत में निर्मल बाबा के विरोध में पोस्ट्स की भरमार है। आपकी पीड़ा को देखकर लगा कि निर्मल बाबा के हमदर्द भी यहां मौजूद हैं।

    आपको ब्लॉगर्स मीट के सभी लिंक्स को ध्यान में रखते हुए अपनी राय देनी चाहिए थी।

    Kunwar Kusumesh said...

    अच्छे लिंक्स.
    मुझे शामिल करने के लिए धन्यवाद.

    मनोज कुमार said...

    बहुत से महत्वपूर्ण लिंक्स का समायोजन हुआ है। सप्ताह भर देश में निर्मल बाबा छाए रहे, यहां भी अपनी उपस्थिति दिखा रहे हैं।
    चर्चाकार की मेहनत और लगन काबिले तारीफ़ है।

    Sadhana Vaid said...

    आज की मीट में आपने मेरी रचना सम्मिलित की आपका बहुत बहुत धन्यवाद एवं आभार ! अच्छे लिंक्स संजोये हैं आपने !

    amrendra "amar" said...

    Behtreen Links....aabhar

    शालिनी कौशिक said...

    nice .meri post ko sthan dene hetu aabhar.post kee charcha ke bad prastut karne vale ke vichar bhi avshay prastut hone chahiyen tabhi charcha kee poornta hai.

    Read Qur'an in Hindi

    Read Qur'an in Hindi
    Translation

    Followers

    Wievers

    Gadget

    This content is not yet available over encrypted connections.

    गर्मियों की छुट्टियां

    अनवर भाई आपकी गर्मियों की छुट्टियों की दास्तान पढ़ कर हमें आपकी किस्मत से रश्क हो रहा है...ऐसे बचपन का सपना तो हर बच्चा देखता है लेकिन उसके सच होने का नसीब आप जैसे किसी किसी को ही होता है...बहुत दिलचस्प वाकये बयां किये हैं आपने...मजा आ गया. - नीरज गोस्वामी

    Check Page Rank of your blog

    This page rank checking tool is powered by Page Rank Checker service

    Hindu Rituals and Practices

    Technical Help

    • - कहीं भी अपनी भाषा में टंकण (Typing) करें - Google Input Toolsप्रयोगकर्ता को मात्र अंग्रेजी वर्णों में लिखना है जिसप्रकार से वह शब्द बोला जाता है और गूगल इन...
      5 years ago

    हिन्दी लिखने के लिए

    Transliteration by Microsoft

    Host

    Host
    Prerna Argal, Host : Bloggers' Meet Weekly, प्रत्येक सोमवार
    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

    Popular Posts Weekly

    Popular Posts

    हिंदी ब्लॉगिंग गाइड Hindi Blogging Guide

    हिंदी ब्लॉगिंग गाइड Hindi Blogging Guide
    नए ब्लॉगर मैदान में आएंगे तो हिंदी ब्लॉगिंग को एक नई ऊर्जा मिलेगी।
    Powered by Blogger.
     
    Copyright (c) 2010 प्यारी माँ. All rights reserved.